Tuesday, 27 Okt, 2020 02:23:42

छत्तीसगढ़ निषाद समाज का तीज मिलन समारोह भिलाई मे सम्पन्न हुवा ।

Khabar Nishad Bandhu | 2019/09/09 11:20:32 VM.

भिलाई : 

बोलो श्रीराम चन्द्र की जय।

निषाद समाज की जय।

भक्त गुहा निषादराज की जय।

बिलासा माता की जय।

 

आप सभी वरिष्ठ जनों माताओं बहनों एवं मेरे युवा साथियों को छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से हार्दिक अभिनन्दन करता है बारंबार नमन करता हूं अभिनंदन करता हूं।

बड़ी खुशी की बात है कि दिनांक 08/09/2019 दिन रविवार स्थान डॉ. अम्बेडकर सांस्कृतिक भवन सेक्टर 6 भिलाई जिला दुर्ग में महिला सशक्तिकरण, महिला संगठन, महिला जागरूकता, महिला एकजुटता एवं समाजिक कार्यक्रम में निश्वार्थ भाव से तन-मन-धन से माताओं बहनों का बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने की इच्छा शक्ति को जागृत करने के लिए छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से तीज मिलन समारोह कार्यक्रम का आयोजन रखा गया था।

सबसे पहले हमारे भारतीय हिन्दू सनातन धर्म के अनुसार कोई भी कार्य को शूरू करने से पहले हम अपने आराध्य देव प्रभु श्रीराम चन्द्र जी की पूजा आरती से शुरूआत किया। उसके बाद अतिथि देवो भव के परंपरा को कायम रखते हुए सभी उपस्थित सम्मानीय अतिथियों का तिलक गुलाल, पुष्प हार पहनाकर स्वागत किया गया।

 उसके बाद हमारे अतिथियों को बारी बारी उद्बोधन करने आमंत्रित किया गया। सभी अतिथियों ने उपस्थित सभी माताओं बहनों को समाज के प्रति लगाव, और समाज के हर छोटे बड़े कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निश्वार्थ भाव से तन-मन-धन से सहयोग करने के लिए प्रेरणा और मार्गदर्शन किया। संबोधन के माध्यम से प्रेरित किया गया। सभी अतिथियों ने हमारे माताओं बहनों को प्रोत्साहित किया, महिला संगठन को मजबूत बनाने, समाज के प्रति लगाव रखने, और तन-मन-धन से बिना स्वार्थ के निश्वार्थ भाव से समाजिक कार्यक्रम में शामिल होने को कहा। और सभी ने आयोजन समिति छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार का सराहना किया। तारीफ की और भविष्य में और भी ऐसे कार्यक्रम हो ताकि हमारे समाज के माताओं बहनों का संगठन मजबूत हो और समाज के प्रति लगाव बना रहे।

कार्यक्रम में उपस्थित रहे-प्रांतीय, संगठन पदाधिकारी,  प्रांतीय संगठन महिला उपाध्यक्ष श्रीमति कौशिल्या निषाद एवं, श्रीमान भोजप्रसाद निषाद जी, श्रीमान नंदकुमार निषाद जी एवं सांथीगण, कोरबा जिला महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष श्रीमती अमृता निषाद, एवं साथी,राजनांदगांव जिला महिला अध्यक्ष श्रीमति सुशीला निषाद, एवं साथी, उपाध्यक्ष श्रीमती पदमनी निषाद, महासमुंद जिला महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष श्रीमती जानकी निषाद एवं साथी महासमुंद जिला उपाध्यक्ष भाई श्रीमान दिलीप निषाद जी, रायपुर जिला महिला अध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार के सक्रिय कार्यकर्ता, श्रीमति प्रेमलता निषाद, दुर्ग जिला महिला अध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार के सक्रिय सदस्य श्रीमति रामप्यारी निषाद, हमारे समाज की गौरव छत्तीसगढ़ी फिल्म जगत की नायिका एवं गायिका सूश्री संगीता निषाद जी, एवं सूश्री कामिनी निषाद जी एवं साथी आप सभी का छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से हृदय से आभार बारंबार नमन। कार्यक्रम में शामिल होकर इस कार्यक्रम को ऐतिहासिक और सफल बनाने में सहयोग करने के लिए समाज के माताओं बहनों को प्रोत्साहित एवं प्रेरित करने के लिए।

उसके बाद हमारे छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार के सक्रिय सदस्य रायपुर जिला महिला अध्यक्ष, आदरणीया श्रीमती प्रेमलता निषाद दीदी जी, एवं दुर्ग जिला महिला अध्यक्ष आदरणीया श्रीमती रामप्यारी निषाद भाभी एवं साथी के मार्गदर्शन में अगला कार्यक्रम सांस्कृतिक कार्यक्रम की मनमोहक प्रस्तुति एकल, एवं सामूहिक नृत्य की प्रस्तुति दी गई। रायपुर जिला महिला संगठन की ओर से सुआ नृत्य, दुर्ग जिला महिला संगठन सामूहिक नृत्य, एवं और भी हमारे माताओं बहनों के द्वारा मनमोहक नृत्य प्रस्तुति दी गई। खेल कूद, माताओं बहनों द्वारा आयोजित प्रतियोगिता फुग्गा फुलाकर फोड़ना,सोलाश्रृंगार, चूड़ी पहनना, फुगड़ी जैसे अन्य कार्यक्रम की माताओं बहनों के द्वारा प्रस्तुति दी गई।

भोजन व्यवस्था में लगे सभी साथियों का हृदय से आभार व्यक्त करता धन्यवाद देता हूं बारंबार प्रणाम करता हूं। मैं किसी भी भाई का नाम नहीं लिख रहा हूं क्योंकि किसी का नाम  छुट ना जाए।आप सभी के निश्वार्थ सेवा भाव, और अच्छा भोजन तैयार करने, और साफ सफाई का विशेष ध्यान रखकर सभी उपस्थित माताओं बहनों, वरिष्ठ जनों, बच्चों को बेहतर ढंग से खाना खिलाया। जिसका सभी ने तारीफ की सराहना की सभी ने कहा हमें घर जैसा भोजन मिला। इसका श्रैय सभी भोजन व्यवस्था समिति को, और साफ-सफाई वाले भाईयों को जाता है। आप सभी की कार्य सराहनीय काबिले तारीफ था। आप सभी का हृदय से आभार छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से बारंबार प्रणाम करता हूं। सभी ने दिल खोलकर दिल लगाकर काम किया किसी को कुछ कहने की जरूरत नहीं पड़ी। भविष्य में आप सभी से ऐसा ही काम करने की आशा करता हूं।

छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार पद प्रतिष्ठा से कोसों दूर है, हमारे यहां कोई पदाधिकारी नहीं है हमारे यहां सब पदाधिकारी सब कार्मचारी है।हम सब काम करते हैं कोई भेदभाव नहीं हम मंच संचालन भी करते हैं, खाना भी बनाते हैं, झाड़ू-पोछा, झूठा बर्तन, उठाते है साफ करते हैं कोई परहेज नहीं कोई झिझक नहीं हमारे लिए कोई काम मुश्किल नहीं। इस लिए हमारा परिवार कहता है-

 आसान है अभी तो शुरुआत है *।"मुमकिन है नामुमकिन नहीं।इस कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे थे- कोरबा, बिलासपुर, चांपा, रायगढ़, बेमेतरा, मुंगेली, तिल्दा-नेवरा,बालौदाबाजार, रायपुर,धरसिंवा, खैरागढ़,राजनांदगांव,मोहड़* , बालोद, धमतरी, जगदलपुर , कांकेर, महासमुंद,पिथौरा, गरियाबंद, नागपुर, दुर्ग, भिलाई,सिलोदा, एवं और भी जगह से उपस्थित कम से कम 5 से 6 सौ माताओं बहनों का उपस्थिति रहा।इतनी दूर दूर से अपना रोजी-रोटी छोड़कर इस कार्यक्रम में उपस्थित होना ये दर्शाता है कि हमारे समाज के माताओं बहनों में एकजुटता और संगठित होने की भावना जागृत हुई है। समाज के प्रति लगाव बढ़ रहा है तन-मन-धन से सहयोग करने के लिए समाज विकास और समाज हित में काम करने की इच्छा शक्ति जागृत हुई है। आप सभी ने प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से सहयोग किया आप सभी का हृदय से आभार नमन करता हूं।

इस कार्यक्रम को सफल और ऐतिहासिक बनाने के लिए प्रांतीय संगठन के सभी पदाधिकारी गण, उपस्थित सभी जिला महिला अध्यक्ष, उपस्थित सभी जिला से आए हुए माताओं बहनों एवं साथ में आए हुए बन्धूओं, वरिष्ठ जनों एवं युवा साथियों, हमारे वाहन चालक भाईयों, भवन के, इंचार्ज, भवन के कर्मचारियों,माईक,टेन्ट,बर्तनकिराया भंडार वाले साथियों, भोजन बनाने में सहयोग करने वाले आटो चालक निषाद भाई उनके साथी निषाद भाई, एवं श्रीमति मिलन निषाद दीदी जी, एवं सभी सहयोगी भाईयों माताओं का छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से हृदय से आभार व्यक्त करता हूं बारंबार प्रणाम करता हूं। आप सभी के सहयोग के बिना यह कार्यक्रम सफल और ऐतिहासिक नहीं बन पाता। हमारे कार्यक्रम को सफल और ऐतिहासिक बनाने में आप सभी का अहम योगदान रहा बहुत बहुत धन्यवाद आप सभी का, छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार के सभी वरिष्ठ जनों, माताओं बहनों एवं युवा साथियों का दिल से शुक्रिया अदा करता हूं।

कार्यक्रम बड़ा था तो कोई ना कोई भुलचूक,या गलती हो ही जाता है और किसी ना ‌किसी का नाम भी छुट जाता है इस सभी के लिए छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार की ओर से आप सभी को मांफी मांगता हूं क्षमा चाहता हूं। भविष्य में सुधारने का प्रयास करने की भरोसा दिलाता हूं। आशा करता हूं आप सभी का आशीर्वाद और प्यार हमेशा मिलता रहे । धन्यवाद आभार।

उपरोक्त जानकारी तिलक निषाद अरमरीकला ने दी ।

विनीत

छत्तीसगढ़ निषाद सहारा व्यवस्था परिवार